Categories
SPECIAL

प्राकृतिक परिवार नियोजन विधि और कमियां क्या है ?

परिवार नियोजन की प्राकृतिक विधियां क्या हैं?

ये वह विधियां हैं जिनके अन्तर्गत माहवारी चक्र की उर्वरक अवधि में महिला सम्भोग से परहेज करती है। औरतों का जनन तंत्र कैसा होता है?

महिला को उर्वरक माना जाता है?

अण्डे के निष्कासन और उससे कुछ दिन पहले की अवधि को उर्वरक अवधि माना जाता है। सामान्यतः चक्र की मध्यावधि में अण्ड निष्कासन होता है। अधिक पक्के तौर पर हम कह सकते हैं कि यह सामान्यतः रक्त स्राव के प्रारम्भ से 14 दिन पहले होता है।

प्रचलित प्राकृतिक परिवार नियोजन की कुछ विधियां कौन सी हैं?

प्रचलित प्राकृतिक परिवार नियोजन विधि में शामिल हैं –

(1) आवर्तन प्रणाली,

(2) ग्रीवा परक ग्युकस विधि,

(3) शरीर के मूलभूत तापमान (बीबीटी) की विधि,

(4) मानक दिन विधि (एस डी एम)

1 reply on “प्राकृतिक परिवार नियोजन विधि और कमियां क्या है ?”

Leave a Reply