Categories
NEWS

नेशनल एंथम के लिए खड़े नहीं होने के कारण बाहर निकाला

बेंगलुरु: फिल्म प्रदर्शित होने से पहले राष्ट्रगान (नेशनल एंथम) बजाने से इनकार करने के बाद चार लोगों को बेंगलुरु में मल्टीप्लेक्स छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि जो घटना सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, वह पिछले बुधवार को तमिल रिलीज असुरन में अभिनीत धनुष की स्क्रीनिंग के दौरान हुई थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्क्रीनिंग से पहले, समूह ने खड़े होने से इनकार कर दिया, जबकि राष्ट्रगान बजाया जा रहा था। कुछ फिल्म निर्माताओं ने समूह के अधिनियम के खिलाफ शुरू में विरोध किया, और उन्होंने मध्यांतर के दौरान उनका सामना किया। प्रदर्शनकारियों में से एक ने उन्हें बताया कि देश का अनादर करने के लिए राष्ट्रगान के लिए खड़े नहीं होने पर टकराव ने हिंसक रूप ले लिया। रिपोर्ट में कहा गया है कि उस व्यक्ति ने भी उनसे पूछा कि “क्या वे पाकिस्तानी थे।”

वायरल वीडियो को शूट करने वाले व्यक्ति को रिपोर्ट में उद्धृत किया गया था, उन्होंने कहा कि उन्होंने यह जानने के लिए ऐसा क्यों किया कि लोग राष्ट्रगान के लिए खड़े नहीं हुए। “मुझे पता है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार, सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजने के बाद खड़े होना अनिवार्य नहीं है, लेकिन मैं यह जानना चाहता था कि वे खड़े क्यों नहीं हुए,” उन्होंने कहा। बिगबॉस 13 : पारस छाबड़ा और असीम रियाज़ में हुई हाथापाई, यहाँ देखिये वीडियो

Categories
NEWS

अपनी हीं सरकार में तीन दिनों से थें फंसे मोदी, तब लालू थे जिम्मेवार आज प्रकृति ?

लालू प्रसाद के शासन में पानी पी पी कर जल जमाव के खिलाफ कोसने वाले बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी स्वयं तीन दिनों से अपने हीं घर में जलजमाव में फंसे हुए थें. उनको आज अपने राजेद्र नगर आवास में तीन दिनों बाद निकाला गया.गौरतलब है कि पिछले तीन दिनों से पटना में जबरदस्त बारिश के बाद पटना का लगभग 80 प्रतिशत इलाका पानी में डूबा हुआ है. खासकर राजेंद्र नगर का इलाका जलजमाव से बुरी तरह प्रभावित है.

बताते चलें कि राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को रेस्क्यू कर घर से बाहर लाया गया है. श्री मोदी पिछले तीन दिनों से राजेन्द्र नगर स्थित अपने आवास में पानी से घिरे हुए थे. आज एसडीआरएफ की टीम ने उन्हें और उनके परिवार को सुरक्षित बाहर निकाला है.पटना में जलजमाव की समस्या कोई नयी नहीं है. हल्की बारिश में भी पटना का राजेंद्र नगर और कंकड़बाग का इलाका न सिर्फ डूब जाता है बल्कि पानी निकलने में भी महीनों लग जाते हैं.

राजद के शासनकाल में वर्तमान डिप्टी सीएम और तत्कालीन विपक्ष के नेता सुशील मोदी इस जलजमाव के खिलाफ हाफ पैंट पहन कर क्षेत्र का दौरा करते थें और जलजमाव के खिलाफ धरना, अनशन बंदी कराकर इसके लिए सीधे तौर पर लालू प्रसाद की सरकार को जिम्मेवार ठहराते थें. दया बेन एक बार फिर लौट रही हैं तारक मेहता का उल्टा चश्मा में

सरकार बदल गयी और उनकी खुद की सरकार भी लगभग डेढ़ दशक से राज्य में है पर जलजमाव की समस्या ने और विकराल रूप ले लिया है.

पहले जिम्मेवार सरकार होती थी पर अब प्रकृति.

Categories
NEWS

बुनकर ने पहली बार कमाए चालीस हजार, पैसे देखकर कांपने लगे हाथ…

नई दिल्ली। ‘मैने बहुत गरीबी देखी है। लगातार काम करता था तो सप्ताह मे डेढ़ साड़ी बुन पाता था, जिसका सेठ 700 से 800 रुपये मेहनताना देता था। कभी 20 हजार रुपए एक साथ नहीं देखे थे। जब पहली बार अपनी कमाई के 40000 रुपये एक साथ देखे तो हाथ कांपने लगे। एक जोड़े ने 9 साल की लड़की के रूप में 22 साल की महिला को गोद लिया

ये दास्तां हैं नोएडा सेक्टर 62 के एक्सपो सेंटर में चल रहे आदि महोत्सव में मध्य प्रदेश चंदेरी से आए बुनकर घनश्याम की। जो कि बात करते करते अपनी गरीबी के दिन याद करके भावुक हो जाते हैं। लेकिन आज घनश्याम अपनी पांच लाख की पूंजी जोड़ चुके हैं और बिना कहीं से कर्ज लिए ट्राइफेड की मदद से अपना खुद का कारोबार चला रहे हैं। चंदेरी काटन सिल्क की एक से एक खूबसूरत साड़ियां बुनने वाले घनश्याम हर साड़ी के साथ दाम के कम ज्यादा होने का कारण बताते चलते हैं। वे कहते हैं कि कभी भगवान को नहीं देखा, लेकिन मेरे लिए ट्राइफेड ही भगवान है। मेरी मिट्टी की कच्ची झोपड़ी थी जिसमें छप्पर नहीं डाल पाता था, क्योंकि अगर उसमें लग गया तो पैसा कहां से आता बच्चे क्या खाते। जाड़े और बरसात मे पूरा परिवार एक चादर में सिकुड़ कर रात गुजारता था। आज हमारी स्थिति बदल चुकी है।

ट्राइफेड (ट्राइबल कोपरेटिव मार्केटिंग डेवलेपमेंट फेडरेशन आफ इंडिया) भारत सरकार के जनजातीय मंत्रालय के तहत आने वाला सरकारी उपक्रम है जो कि आदिवासियों के उत्थान और उन्हें मुख्यधारा में जोड़ने के लिए उनके उत्पादनों की ब्रांडिंग और मार्केटिंग करके उसे देश विदेश के बाजार तक पहुंचाता है। इसी क्रम में अलग अलग राज्यों में आदि महोत्सव आयोजित किये जाते हैं जिनमें आदिवासी अपने उत्पाद और कारीगरी लेकर शामिल होते हैं। नोएडा मे शनिवार को शुरू हुए आदि महोत्सव का उद्घाटन जनजातीय मामलों की राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने किया। महोत्सव में करीब 20 राज्यों के आदिवासी कारीगरों ने भाग लिया है।

इन्हीं में से एक हैं मध्यप्रदेश चंदेरी के बुनकर घनश्याम जिन्हें ट्राइफेड से जुड़े सिर्फ डेढ़ साल हुआ है। एक दिन उसके पास ट्राइफेड के शेखावत पहुंचे उनका पूरा नाम वह नहीं जानता लेकिन उन्होंने ही उसे 11 लोगों के समूह में शामिल किया जो साडि़यां और कपड़ा बुनते थे और डेढ़ साल में उसकी किस्तम बदल गई। इस वर्ष उसे ट्राइफेड से 20 लाख का सौदा मिला है जिसमें से 7-8 लाख का काम वह कर चुका है।

एप्लीक, पैच, और राजस्थानी कढ़ाई में पारंगत 50 साल की लहरा देवी की कहानी भी अलग है। बाड़मेर की लहरा की तीन बेटियां हैं। बेटा नहीं था इसलिए 30 साल पहले पति की दूसरी शादी करा दी और स्वयं दांपत्य जीवन छोड़ भक्ति और काम में रम गईं। लहरा के मुताबिक वे भील समाज से हैं और हमारे समाज में बेटा नहीं होता तो लोग बहुत बातें करते हैं। लहरा को चश्मा लग गया है इसलिए वह अब कारीगरी का महीन काम नहीं कर पाती लेकिन ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान से जुड़ी लहरा आफिस में बैठती हैं और कारीगरों का काम देखती हैं। पांचवीं तक पढ़ी लहरा सिर्फ हिन्दी पढ़ना जानती हैं। कामकाज ने उन्हें तकनीकी ज्ञान सिखा दिया है। वह बोलकर अपने मोबाइल में हिन्दी में नंबर सेव करती हैं और तत्काल ग्राहक का नंबर लेकर उसे समूह के काम के बारे में वाट्सअप भी भेज देती हैं।

Categories
NEWS

गोरेगांव अपार्टमेंट से 19 साल के युवक ने कूदकर दी जान

गोरेगांव की एक इमारत की 27 वीं मंजिल से कूदकर 19 वर्षीय ने कथित रूप से शनिवार को आत्महत्या कर ली। डिंडोशी पुलिस द्वारा प्रदान की गई प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, मृतक का मेडिकल परीक्षण हुआ था, जिसने पुष्टि की थी कि उसे कैंसर है। महिला, पुलिस का कहना है कि उसने अपने माता-पिता और भाई को आत्महत्या करने का कारण बताते हुए एक पाठ संदेश भी भेजा था। आकस्मिक मौत की रिपोर्ट (एडीआर) दायर की गई है। गुलाब और हेलमेट देकर ट्रैफिक रूल जागरूकता अभियान

संतोष नगर, गोरेगांव पूर्व में एक ऊंचे स्थान ओंकार टॉवर के निवासियों ने शव को खोजने के लिए पुलिस को बुलाया। महिला की पहचान इमारत के 27 वें मंजिल के निवासी मुसकान महाजन के रूप में हुई है। डिंडोशी पुलिस स्टेशन के एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “उसने तीन महिलाओं के साथ एक अपार्टमेंट साझा किया और एक साल से यहां रह रही थी। इंदौर से वह व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल में फैशन डिजाइन की छात्रा थी।” “शनिवार की सुबह, वह मलाड में एक डॉक्टर से मिलने गई थी, जहाँ उसे उसकी मेडिकल रिपोर्ट मिली,” उन्होंने कहा। जब मुसकान लौटी, तो उसके फ्लैट के साथी बाहर निकल आए थे।

Categories
NEWS

गुलाब और हेलमेट देकर ट्रैफिक रूल जागरूकता अभियान

वाहन जाँच के नाम पर बदनाम हो रही पटना पुलिस आज अलग ही अंदाज में नजर आयी। इनर व्हील क्लब पटना नव्या के द्वारा आयोजित ट्रैफ़िक रूल जागरूकता कार्यक्रम में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया और लोगों के बीच जागरूकता फ़ैलाने का कार्य किया।

इनर व्हील क्लब पटना नव्या के द्वारा पटना के एक्जीविशन रोड चौराहा पर ट्रैफ़िक रूल जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया।

गुलाब और हेलमेट देकर ट्रैफिक रूल जागरूकता अभियान

इस कार्यक्रम के तहत बगैर हेलमेट पहने लोगों से कोई जुर्माना नहीं वसूला गया बल्कि उन्हें कम कीमत पर ऑनस्पॉट हेलमेट मुहैया कराया गया। हेलमेट के साथ-साथ सभी बाइक सवार को गुलाब का फूल और ट्रैफ़िक रूल का पम्पलेट भी बाँटा गया। वायरल वीडियो : चलती ट्रेन की छत पर जानलेवा स्टंट

इस अवसर पर प्रेसीडेंट अंजू महेन्द्र ने कहा कि मानव जीवन अमूल्य है इसकी रक्षा करें।

यह कार्यक्रम डी.एस.पी ट्रैफ़िक वन और चौक पर मौजूद तमाम पुलिस ऑफिसर की मदद से किया गया। वहाँ उपस्थित पुलिस ऑफिसर्स को मोमेन्टो और मिठाई देकर सम्मानित किया गया। लोगों ने इस कार्य को बहुत सराहा।

गुलाब और हेलमेट देकर ट्रैफिक रूल जागरूकता अभियान

इस मौके पर क्लब की प्रेसीडेंट अंजू महेन्द्र, सचिव अमृता मिश्रा, मनीषा मिश्रा, विद्या वर्मा , मधुबाला, सिम्पल भारती और कंचन सिंह मौजूद थीं ।

गुलाब और हेलमेट देकर ट्रैफिक रूल जागरूकता अभियान

Categories
NEWS

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुछ अनदेखी तस्वीरें वैश्विक नेताओं के साथ

संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और इज़राइल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू जैसे कुछ का नाम लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सम्मान एक प्रमुख वैश्विक नेता के रूप में किया जाता है। बेयर ग्रिल्स और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक साथ आयेगे नजर

Categories
NEWS

नए मोटर व्हीकल एक्ट ने तोड़े चालान के सारे रिकॉर्ड

new Motor Vehicle Act लागू होने के बाद चालान के सारे रिकॉर्ड देश भर में टूट रहे हैं. हरियाणा में 23 हजार रुपये से प्रारम्भ हुआ चालान 1.16 लाख तक पहुंचा वही जनता में दहशत का माहौल है. लेकिन पुलिस कोई रहम नहीं बरत रही. एक तरफ सरकार जुर्माना कम करने पर विचार कर रही है तो दूसरी ओर पुलिस ने एक ओवरलोड ट्रक का 2 लाख 500 रुपये का चालान काट दिया. ट्रक मालिक ने पैसा तो जमा कर दिया लेकिन अब वो सवाल उठा रहे हैं. उनका बोलना है कि उन्हें खुद नहीं पता कि इतना चालान कैसे हुआ. ई-सिगरेट ने मृतकों की संख्या में इजाफा किया

ये तो हमारे साथ ज्यादती है.

बता दें नए नियम लागू होने के बाद से पूरे देश में लोगों के मन में भय का माहौल कायम है. इस नए कानून के कड़े नियम ने लोगों को सोंचने पर मजबूर कर दिया है कि गाड़ियों को सड़क पर लेकर जाएं या ऑफिस जाने या किसी अन्य काम के लिए, प्राइवेट वाहनों का इस्तेमाल करें. हालांकि कई राज्य ऐसे हैं जहां इस नियम को लागू भी नहीं किया गया है. जिनमें पश्चिम बंगाल शामिल है.

बताते चलें कि हरियाणा में तो चालान की सारी हदें ही पार हो गई.

पिछले दिनों रेवाड़ी में एक ट्रक का 1.16 लाख रुपये का चालान किया गया था. गुरुग्राम में एक ट्रैक्टर चालक का 59 हजार रुपये का चालान कटा. फरीदाबाद में एक बुलेट चालक का 41000 रुपये का चालान हुआ. फरीदाबाद में ही एक बुलेट चालक का 35 हजार रुपये का चालान हो चुका है. गुरुग्राम में एक ऑटो चालक का 32500 रुपये का चालान कट चुका है. बिगबॉस 13 एक टीम होगी प्लेयर्स और दूसरी होगी घोस्ट

जाहिर है नियम जो भी बनते हैं वो आम लोगों की भलाई के लिए ही. हेलमेट पहनना और गाड़ियों के कागजात खुद की सुरक्षा के लिए ही होती है. लेकिन जब कानून की मार पीठ के वजाय सर पर पड़े तो तकलीफ ज्यादा होती है. हम नहीं कहते कि इस कानून में परिवर्तन किया जाए लेकिन क्या आम नागरिकों से इतनी वसूली करना ठीक है. क्या लोगों को अपने गाड़ियों के कागजात को सही करवाने का समय नहीं दिया जाना चाहिए.

Categories
NEWS

रोटरी क्लब ऑफ पटना के द्वारा हेल्थ चेकअप का आयोजन

रोटरी कल्ब ऑफ पटना आर्यनस् के द्वारा संत जोसफ काॅनवेंट गल्र्स हाई स्कूल में तीन दिवसीए मेगा हेल्थ कैंप किया गया। जिसका उद्घाटन मुख्य अतिथि डिस्ट्रिक्ट  गवर्नर गोपाल  खेमका  एवं स्कूल के प्रधनार्चाय सिस्टर  जोसफीन  के कर कमलों के द्वारा सम्पन्न हुआ। हम बहुयामी हेल्थ कैंप में भिन्न-भिन्न प्रकार के मेडिकल चेकप किया गया। इस कैंप में डा0 गीता शर्मा, डा0 कृतिका, डा0 रनवीर, डा0 प्रियंका मौजुद थे तथा इनके द्वारा लगभग 900 बच्चों का डेन्टल चेकप किया गया।

रोटरी क्लब ऑफ पटना के द्वारा हेल्थ चेकअप का आयोजन

डिस्ट्रिक्ट  गवर्नर गोपाल  खेमका  ने स्कूल में रोट्रेक्ट कल्ब खोलने की घोषणा की, साथ ही एक वेंडिग मशिन का आनावरण किया, आपात काल में अग्नि शमन की कला तथा भिन्न-भिन्न प्रकारो से आग को कैसे बुझाया जाय जिसका सपफल निर्देशन रो0 डा0 टी. एन प्रसाद के द्वारा किया गया, बच्चों का फायर  फाइटिंग   से सम्बोधित क्विज  संचालन रो0 आर बी मिश्रा एव संतोष  कुमार  ने किया। वर्ग 3, 4 एवं 5 के बच्चों के लिए दाँतो की जाँच का डेंटल कैम्प भी लगाया गया। जहाँ डा0 कृतिका, डा0 गीता शर्मा, डा0 पुरूषोत्तम ने दाँतो सपफाई एवं सुरक्षा से संबंध्ति जानकारी दी। साथ ही बच्चों को  शिवानी  भार्गव ण् प्रवीण  कुमार ए  रवि  भार्गव ए प्रियतम  के निर्देश में बच्चों को आठ तरीको से हाथ धेने की कला तथा हाथ क्यों धेना जरूरी है यह सभी बच्चों को समझाया गया।

तीन दिवसीय मेगा हेल्थ कैंप का आर्कषण क्लब के अध्यक्ष डॉ ण् विनीश  निरंजन  एवं उनकी टीम के सदस्य के द्वरा हड्डियों के घनत्व की जाँच की गई तथा हिमोग्लोबीन, बल्ड शुगर, ब्लड प्रेसर, यूरिक एसिड रही। विद्यालय की शिक्षिकाओं का निशुल्क जाँच किया गया। क्लब के चार्टर अध्यक्ष राजीव  भार्गव  एवं क्लब  एडवाइजर  रवि  भार्गव  ने स्कूल की प्रधनाचार्य तथा बच्चों का धन्यबाद किया।