अहमदाबाद:
MODIगुजरात में अहमदाबाद की एक अदालत ने 2002 में राज्य में सांप्रदायिक दंगा मामले में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेद्र मोदी को गुरुवार को बड़ी राहत देते हुए उन्हें क्लीन चिट दे दी। आगामी लोकसभा चुनावों से पहले अदालत के इस फैसले से मोदी को बड़ी राहत मिली है। अदालत ने जाकिया जाफरी की याचिका खारिज करते हुए मोदी को क्लीन चिट देने वाली एसआईटी की रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया। श्रीमती जाफरी के पति अहसान जाफरी इन दंगों में जिंदा जला दिये गये थे। श्रीमती जाफरी ने उच्चतम न्यायालय द्वारा मार्च 2008 मे नियुक्त एसआईटी की रिपोर्ट को चुनौती देते हुए आरोप लगाया था कि मोदी ने मंत्रियों और वरिष्ठ नौकरशाहों और पुलिस के साथ मिलकर ये दंगे कराये थे। कांग्रेस के पूर्व सांसद श्री जाफरी समेत 68 लोग 28 फरवरी 2002 क ो अहमदाबाद की गुलबर्ग सोसाइटी मे दंगाइयो के हमले मे मारे गये थे।

Leave a Reply