भागलपुर : शोहदे की छेड़खानी व ब्लैकमेल करने से आजिज आठवीं कक्षा की छात्रा ने खुद को फूंक डाला। इलाज के दौरान रविवार को जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उसकी मौत हो गई। उसने 26 नवंबर की शाम को केरोसीन उड़ेल कर आग लगाई थी। मरने से पूर्व उसने महिला कार्यपालक मजिस्ट्रेट टेरेसा मुर्मू की मौजूदगी में शोहदे व उसके साथी के खिलाफ बरारी पुलिस को बयान दिया।

बरारी पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। किशोरी ने अपने बयान में कहा कि युवक गु

ड्डू शर्मा स्कूल एवं बाजार जाते समय अक्सर उसके साथ छेड़खानी करता था। उस पर शादी का दबाव डाल रहा था। शादी नहीं कर
ने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहा था। गुड्डू उसे मुंबई ले जाना चाहता था। युवक ने किशोरी की तस्वीर भी अपने मोबाइल में खींच ली थी। तस्वीर की आड़ में किशोरी को ब्लैकमेल कर धमकाता था। 25 नवंबर को किशोरी स्कूल जा र

ही थी। रास्ते में गुड्डू ने अपने दोस्त मूलो खान के साथ किशोरी को रो

क लिया। साथ चलने को कहा। किशोरी के इन्कार करने पर दोनों ने उसके पिता

एवं भाई को मार डालने की धमकी दी। इसी खौफ से किशोरी ने आत्मघाती कदम उठा लिया।

बरारी थाने के दरोगा रजी अहमद ने बताया कि किशोरी व उसके पिता के बयान दर्ज किए गए हैं। मुकदमा दर्ज करने के लिए बयानों को शाहकुंड थाना भेजा जा रहा है।

किशोरी के पिता का कहना था कि उसे बेटी को न बचा पाने

का अफसोस है। मगर बेटी को प्रताड़ित कर उसकी जान लेने वालों को वह कड़ी सजा जरूर दिलाएगा।[text2ad1]

Leave a Reply