घर से निकली लड़की को अगवा कर अपराधियों ने गैंग रेप किया। उसके बेहोश होने पर उसे ट्रेन में चढ़ा लिया। वहां भी दरिंदों ने गैंग रेप कर चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। इस दौरान उसके साथ की गई जबरदस्‍त हैवानियत ने दिल्‍ली के निर्भया कांड की याद ताजा कर दी है।
बिहार के लखीसराय के चानन थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नाबालिग लड़की शौच के लिए घर से बाहर निकली थी। आरोप है कि वहां से उसे मृत्युंजय कुमार उर्फ भोथी एवं संतोष कुमार ने अपहृत कर लिया तथा एक खेत में ले जाकर गैंग रेप किया। वारदात के दौरान उनके और साथी भी आ गए। लड़की ने बताया कि उसके साथ सात-आठ हैवानों ने दरिंदगी की, जिनमें दो को वह पहचानती है।
बताया जाता है कि गैंग रेप के दौरान लड़की बेहोश हो गयी तो दरिंदे उसे निकटवर्ती वंशीपुर स्टेशन पर ले गए। वहां दरिंदों ने उसे मौर्य एक्सप्रेस की एक बोगी में चढ़ाकर फिर गैंग रेप किया। इसके बाद लड़की को किउल स्टेशन पर ट्रेन से नीचे फेंक अपराधी भाग गए।
लड़की शुक्रवार की सुबह किउल में गंभीर हालत में मिली। वह बेहोश थी और उसके शरीर की कई हड्डियां टूटी मिलीं। प्राइवेट पार्ट में गंभीर जख्‍म का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसमें दो दर्जन से अधिक टांके लगाए गए हैं। फिलहाल, उसका  इलाज पटना मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल में चल रहा है।
घटना का एक पहलू यह भी है कि पुलिस पूरे मामले को लव अफेयर का रंग देने में लग गई है। लखीसराय के एसपी के अनुसार यह गैंग रेप का मामला नहीं है। लड़की के जख्‍मों को वे परिवार वालों की पिटाई के कारण हुआ बता रहे हैं। लेकिन, लड़की के प्राइवेट पार्ट के जख्‍म भी क्‍या पिटाई के कारण हुइ, यह पूछने पर वे चुप्‍पी साध ले रहे हैं। एसपी के अनुसार लड़की का आरोपी संतोष से प्रेम संबंध रहा है।
चानन थाना क्षेत्र में विगत 15 जून की रात सामूहिक दुष्कर्म की शिकार किशोरी की हालत नाजुक बनी हुई है। पटना स्थित पीएमसीएच में चिकित्सकों की निगरानी में किशोरी का उपचार किया जा रहा है। 17 जून को सदर अस्पताल लखीसराय में किशोरी के दिए गए बयान के आधार पर पुलिस ने इस मामले में चानन थाना कांड संख्या 72/17 के दो नामजद सहित कुल छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है। पुलिस ने एक अभियुक्त गांव के ही बनारसी तांती के पुत्र संतोष कुमार को गिरफ्तार कर कड़ी पूछताछ के बाद जेल भेज दिया है। एक अन्य नामजद गांव के ही कामेश्वर यादव के पुत्र मृत्युंजय कुमार उर्फ भोथी की तलाश में छापामारी तेज है। पुलिस ने किशोरी की मेडिकल जांच के लिए पीएमसीएच, पटना को पत्र लिखा है। साथ ही उसके खून लगे कपड़े को जब्त कर एसएफएल जांच की कार्रवाई कर रही है।
loading...

LEAVE A REPLY