दरभंगा : बिहार के दरभंगा जिले में कुदरत का करिश्मा देखने को मिला. दरअसल दरभंगा जिले के सिमरी के पास मुसहरी टोले में दुखी सदा के सात साल के बेटे सुधीर सदा का इलाज कई दिनों से चल रहा था. बताया जा रहा है कि सुधीर सदा को कई दिनों से बुखार लगा हुआ था. जिसका इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा था.

लेकिन अचानक तेज बुखार के कारण सुधीर बेहोश हो गया. परिजनों ने घरेलू उपचार से कई प्रयास किये लेकिन सुधीर के शरीर में किसी भी तरह का हलचल नहीं हो रहा था. काफी देर तक मशक्कत करने के बाद परिजनों ने उसे मृत समझ लिया. आनन-फानन में परिजनों ने उसके अंतिम संस्कार की तैयारी भी कर ली. अंतिम संस्कार की तैयारियों के बीच में सुधीर को अर्थी पर लिटाने के लिए स्न्नान कराया गया.

 

जिसके बाद मौके पर मौजूद सभी लोग यह देखकर हतप्रभ रह गए की सुधीर के शरीर में हलचल होने लगी. स्नान कराने के दौरान सुधीर को लघुशंका हो गयी और उसके शरीर में तेज हलचल शुरू हो गयी. सुधीर के शरीर में हुई हलचल के बाद परिजनों की आंखें खुलीं और जिस परिवार में मौत का कोहराम मचा था, वहां जीवन की आस जाग गयी. आनन-फानन में उसे लोग अर्थी से उठाकर अस्पताल ले गये, जहां डॉक्टरों ने उसे जीवित घोषित कर फिर से इलाज करना शुरू कर दिया.

loading...

LEAVE A REPLY