राजधानी पटना कुर्जी दिघा संत माइकल स्कूल मैं पढ़ रहे इंजीनियर पुत्र के अपराहन सहित कई जघन्य कांडों को एक साथ अंजाम देने की फिराक में लगे कुख्यात विकी बाबा सोनू खान गिरोह के आठ अपराधी गिरफ्तार वरीय पुलिस अधीक्षक श्री मनु महाराज पटना को लगातार गोपनीय सूचना प्राप्त हो रही थी कि इन दिनों राजधानी पटना में दानापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत कुछ कुख्यात योग्यता पर अंतर्राज्य अपराधियों की सक्रियता बढ़ रही है यह जेल में बंद कुछ बड़े अपराधियों की योजना बनाकर कोई बड़ी अपराधिक घटना को अंजाम देने की फिराक में है इस सूचना को अत्यंत गंभीरता से लेते हुए वरीय पुलिस अधीक्षक श्री मनु महाराज पटना द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक पंचमी के नेतृत्व में अपर पुलिस अधीक्षक दानापुर थाना अध्यक्ष शास्त्री नगर एवं विशेष बल के कर्मियों की एक टीम का गठन किया गया गठित टीम को पुलिस कप्तान द्वारा स्पष्ट निर्देश था कि किसी भी हालत में किसी अपराधिक घटना को घटित होने से पूर्व अपराधियों का सत्यापन की गिरफ्तारी की जाए

तत्कार गठित टीम द्वारा इस सूचना के सत्यापन हेतु आसूचना संकलन एवं पुराने एवं पेशेवर अपराधियों की गतिविधियों की निगरानी एवं अन्य माध्यम से दानापुर क्षेत्र के सक्रिय अपराधियों के संबंध में जानकारी एकत्रित किए जाने लगा इसी क्रम में गठित टीम को जानकारी मिलेगी कुछ अपराधी दानापुर थाना क्षेत्र के अवस्थित तकिया पर एकत्र होने वाले हैं । तत्काल इश्क सूचना अनुसार संदेहास्पद हुलिया के के व्यक्तित्व क्या पर दिखाई दिए टीम द्वारा उन्हें घेर कर पकड़ा गया। पकड़े गए व्यक्तियों ने अपना नाम विक्की कुमार उर्फ विक्की बाबा सोनू खान भोली गोपाल एवं संदीप कुमार अरविंद कुमार उर्फ बाबा चंदू पासवान एवम लालू राय बताया तलाशी के क्रम में उनके पास से चार देसी पिस्टल एवं नव जिंदा कारतूस एवं 3 मोटरसाइकिल आदि बरामद किए गये
रंगे हाथों हथियारों के साथ पकड़े इन अपराधियों से पूछताछ की क्रम में खुलासा किया कि इन पर लूट हत्या डकैती आर्म्स एक्ट अरशद हथियारों की चोरी जैसे कई संगीन कांड केस दर्ज हैं।
यह यहां छपरा जिला के रहने वाले स्वर्ण व्यापारी रेखा देवी की हत्या करने के उद्देश्य से एकत्र हुए थे पकड़ाए गए कुख्यात अपराधी विक्की बाबा ने संगम पूछताछ के क्रम में इसके साथ ही अपने पराए साथी पुर जी निवासी संदीप कुमार के साथ मिलकर उस के सहयोग से पाटलीपुत्रा थाना क्षेत्र निवासी एक इंजीनियर वर्तमान में पथ निर्माण विभाग में कार्यरत के बेटे जो सत माइकल में स्कूल में पढ़ता है उनका भी अपरहन कर 5000000 रुपए की फिरौती मांगिनी थी। इससे अतिरिक्त जेल में बंद कुछ बड़े अपराधियों के साथ मिलकर शास्त्री नगर थाना क्षेत्र अवस्थित हल्दीराम आउटलेट के मालिक पर गोली चलाना और रुपसपुर थाना क्षेत्र के चंद्रलोक कंप्लीट में अवस्थित एक बड़े पेंट दुकानदार की भी हत्या करनी थी यह सभी जगह एवं टारगेट इन लोगों के द्वारा चिन्हित किया जा चुका था और यह दिल मुनासिब मौके की तलाश में थी
इन घटनाओं में उनके साथ जिला वैशाली के भी कुछ अपराधी शामिल थे जो पूर्व में पीरबहोर थाना कांड संख्या 98/16 दिनांक 11, 4,16 धारा 302 भा दी वी एव 27 आर्म्स एक्ट परिवर्तित धारा 396 भा दी वी में दवा व्यवासी जी एम रोड हत्या कांड जेल जा चुके है । इसने आगे बताया कि हाल में ही जिला गया में हुए बैंक डकैती कांड बहुत गया थाना कांड संख्या 145 बता 17 दिनांक 7 370 धारा 395/ 397 एवं 27 आर्म्स एक्ट के पकराई अभियुक्त एवं रुपसपुर थाना हत्याकांड संख्या 7/17 दिनांक 10 /1/17 के अपराधी गिरोह के हैं
इस प्रकार इन अपराधियों की किस तारीख अदानी पटना में उनके द्वारा खूनी तांडव मचाने पर पुर भी इनके मंसूबों को पटना पुलिस द्वारा त्वरित करवाई करना काम किया गया इस गिरफ्तारी से ना सिर्फ होने वाले कई कारणों को घटित होने से रोका गया बल्कि पर आएं अपराधियों द्वारा बताए गए पेशावर अपराधियों के नाम का खुलासा हुआ जिनके गिरफ्तारी से गठित किया खुलासा होने की प्रबल संभावना है पराए अपराधियों से संघर्ष जारी है अन्यथा अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु छापेमारी जारी है

 

loading...

LEAVE A REPLY