डा0अरविन्द शर्मा समस्तीपुर जिला, बेगूसराय बखरी। अपराधियों के खौफ से हर कोई दहशत में है। खाकी नाकारा साबित हो रही है। बेलगाम और बेख़ौफ़ अपराधी खुलेआम तांडव कर रहे हैं। कहीं सरेआम गोली मार दी जाती है तो कहीं चोरी की बड़ी-बड़ी वारदात से जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। और अब इनसब से भी बढ़कर बेख़ौफ़ अपराधी एक मासूम को सरेशाम बाज़ार से उठा ले जाते हैं। लगातार हो रहे आपराधिक वारदात के बीच पुलिस मंदिर निर्माण के लिए चंदा उगाही में व्यस्त है। एसके इलेक्ट्रॉनिक में बड़ी चोरी की घटना। प्रिया होंडा में बड़ी चोरी।

 

फिर एमके एजेंसी में बेख़ौफ़ अपराधियों द्वारा चोरी की बड़ी वारदात। डरहा में राहगीर पर गोलियों से कातिलाना हमला। इन तमाम वारदातों के बाद अब बाज़ार से एक मासूम के अपहरण ने पुलिसिया कार्यशैली पर करारा तमाचा जड़ दिया है। जांच और अनुसंधान के नाम पर आमजन को मुर्ख बनाने वाली पुलिस अपराधियों के आगे नतमस्तक है। आलम यह है कि हर कोई भय और दहशत में जीने को मजबूर है। सवाल ये है कि क्या बेलगाम अपराधियों के आगे बेबस और नतमस्तक खाकी अब बेशर्मी की सीमा लांघने पर उतारू है

loading...

LEAVE A REPLY