पटना के फुलवारीशरीफ के बीएमपी-16 के मुख्य गेट के सामने सोमवार की शाम पुलिस वाहन ने एक बाईक सवार युवक को कुचल दिया जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गयी. मृतक की पहचान पटना के मीठापुर बस स्टैंड के पास एक निजी नर्सिंग होम में प्रैक्टिस करने वाले चिकित्सक डॉ बिनोद कुमार के रूप में हुई है. डॉ विनोद झारखंड के डाल्टेनगंज के मूल निवासी थे और उनका अरवल में ससुराल है.

 

इस सम्बन्ध में पुलिस इंस्पेक्टर धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि मृतक डॉ विनोद झारखंड के ही मूल निवासी थे. पटना के मीठापुर में एक निजी नर्सिंग होम में सेवा देने के साथ ही सिवाला के आगे नेउरा में भी शाम में नर्सिंग होम में प्रैक्टिस करते थे. उन्होंने बताया कि संभवतः नेउरा वाले क्लिनिक में ही वे जा रहे थे और इस दौरान ही उनकी दुर्घटना में मौत हो गयी. इधर स्थानीय पुलिस दुर्घटना को अंजाम देने वाले पुलिस वाहन को जब्त कर थाने ले आई है और पुलिस वाहन के चालक सुभाष को गिरफ्तार कर लिया गया है.

 

बता दें कि सोमवार की शाम बीएमपी-16 के पास बीएमपी-16 के पुलिस वाहन से कुचलकर डॉ बिनोद कुमार की मौत हो गयी थी. इसके बाद स्थानीय लोगों ने एक घंटे तक हंगामा किया और सडक जाम कर आगजनी की थी.

 

घटना के बारे में प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पटना की ओर से आ रही बीएमपी की बस ने आगे चल रही बाईक को पीछे से ठोकर मार दिया जिसके कारण बाइक सवार गिर गया और बस के अगले चक्के ने उसके सर को रौंद दिया. मौके पर ही बाइक सवार की मौत हो गयी.

 

घटना के बाद पुलिस वाहन का चालक गाड़ी लेकर बीएमपी-16 परिसर में घुस गया. इसके बाद स्थानीय लोग उग्र हो गये. रोड पर आगजनी करते हुये एक घंटा तक फुलवारी-खगौल सडक को जाम कर दिया. सडक जाम कर रहे लोग चालक की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. प्रदर्शन करते हुये बीएमपी परिसर में घुसना चाह रहे थे.

loading...

LEAVE A REPLY