पटना : सूबे की प्रारंभिक शिक्षा में आप सभी के सहयोग से परिवर्तन हुआ है। इसकी झलक आप सभी को बीती मैट्रिक और इंटर की परीक्षाओं में देखने को मिला, लेकिन उच्चतर शिक्षा में अब भी सुधार की आवश्यकता है। इसके लिए शिक्षक व छात्रों के साथ-साथ अभिभावकों के सहयोग की आवश्यकता है। शीघ्र ही 12 हजार शिक्षकों की बहाली की जायेगी। उक्त बातें शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने पुनपुन स्थित एसएमडी कॉलेज के नवनिर्मित स्वर्ण जयंती भवन और महिला छात्रावास भवन के उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित करते हुए कहीं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि सूबे के मुखिया नीतीश कुमार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के प्रति गंभीर हैं।

ये भी पढ़े :- ब्रेकिंग : 12310 डाउन राजधानी एक्सप्रेस में भीषण डैकती

इसी का प्रतिफल है कि सूबे में आंतरिक रूप से शिक्षा में परिवर्तन हो रहा है। तभी तो बीते वर्ष सूबे की प्रारंभिक शिक्षा में हुए परिवर्तन की सराहना भारत सरकार के सचिव ने की और इसके लिए सूबे को स्वर्ण पदक से सम्मानित भी किया गया। उन्होंने कहा कि यह सब आप सभी के सहयोग से संभव हो पाया है।

इसके पहले कॉलेज के मुख्य गेट के पास 497.96 लाख की लागत से बनीं छह सड़कों व पुलियों का उद्घाटन व 217.87 लाख की लागत से बननेवाली एक सड़क एवं एक पुलिया का शिलान्यास ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार ने किया। समारोह की अध्यक्षता मगध विश्वविद्यालय के कुलपति मो. कमर अहसन ने की। संचालन कॉलेज के प्राचार्य जितेंद्र रजक ने किया। मौके पर मधुसूदन कुमार, मुखिया सद्गुरु कुमार, सुदामा पांडेय, मनीष कुमार, रोशन लाल राखी, ओमप्रकाश सिंह और मंटु कुमार आदि मौजूद थे।
loading...

LEAVE A REPLY