आय से अधिक संपत्ति के मामले में राजनीति के दिगज नेता लालू प्रसाद यादव की संपत्ति के बारे में जब पटना हाईकोर्ट ने जानना चाहा था तो उनके वकील ने लालू को उनकी ससुराल से मिले गिफ्ट के बारे में जिक्र किया। वकील के मुताबिक लालू को उनकी ससुराल से कुछ गाय मिली थीं, जो कि साल दर साल बढ़ती गईं। जिसके बाद उन्होंने अपना डेयरी का व्यवसाय शुरू किया।
यही आधिकारिक तौर पर लालू परिवार का व्यवसाय है। जिसके बाद आय से अधिक संपत्ति के मामले में 2006 में बिहार के इस दिग्गज नेता को मुक्त कर दिया गया। एक दशक के बाद एक बार फिर बीजेपी के नेता सुशील मोदी ने लालू के परिवार पर एक और बिजनेस चलाने का आरोप लगाया है, जिसका उन्होंने हलफनामें में जिक्र नहीं किया है।

लालू के परिवार का ये बिजनेस औरंगाबाद में मोटरसाईकिल का एक शोरूम है। इस शोरूम की जमीन लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने 2012 में खरीदी थी। उन्होंने इसका उल्लेख 2015 के चुनावों के दौरान दिए गए हलफनामे में भी नहीं किया। तेज प्रताप यादव अब बिहार के स्वास्थ्य मंत्री हैं। दस्तावेजों के मुताबिक शोरूम एक कंपनी से संबंधित है और जिसके मुख्य स्टेकहोल्टर तेजप्रताप यादव ही हैं।

loading...

LEAVE A REPLY