-एसडीओ को मोहल्लावासियों ने सौंपा आवेदन
-एसडीओ ने कहा जांच कर दोषियों पर होगी कार्रवाई
सहरसा, निज प्रतिनिधि।
एक तरफ प्रशासन बारिश के पहले नगर को जलमग्न होने से बचाने के लिए युद्ध स्तर पर कच्चा-पक्का नाले का निर्माण करवाने में जुटी है तो दूसरी तरफ अतिक्रमणकारी लोग जलनिकासी के रास्ते को अवरुद्ध कर भवन निर्माण में जुटा है। ऐसा ही एक मामला पुरानी जेल-बटराहा रोड के बीच डीलर उर्मिला देवी के घर के निकट जलनिकासी द्वार पुलिया के मुहाने को बंद करने का प्रकाश में आया है। मोहल्लावासियों के द्वारा इस बाबत आवश्यक कार्रवाई के लिए एसडीओ सदर को एक आवेदन दिया गया है। वार्ड संख्या 20 एवं 22 के निवासियों ने सदर एसडीओ शौरभ जोड़वाल को   समर्पित आवेदन में  कहा है कि  शहर सहरसा के महावीर चौक, कपड़ा पट्टी, बनगांव रोड, मसोमात पोखर, अलीनगर टोला सहित कृष्णा नगर वार्ड नम्बर 20 व 22 के सभी नाला व बरसात के पानी की निकासी का प्रमुख श्रोत पुरानी जेल के निकट सुंदर मंडल के घर के आगे डीलर उर्मिला देवी के घर के सामने 50 वर्षों से अधिक समय से मुख्य सड़क पर पुलिया है। इस पुलिया के मुहाने को डीलर उर्मिला देवी के पुत्र संदीप गुप्ता के द्वारा दीवाल खड़ा कर और मिट्टी भराई कर बंद किया जा रहा है।  अगर इसपर कोई कार्रवाई तत्काल नही की गई तो बारिश में सम्पूर्ण इलाका जलमग्न हो जाएगा।
इसके आगे सिमरी बसख्तियारपुर बस स्टैंड के पास भी होटल संगम बिहार से सटे दक्षिण भी पुलिया है और इस पुलिया से उपरोक्त सभी नालों का पानी रेलवे होकर सुलिन्दाबाद स्थित पुलिया में निकासी होती थी। जिसे भी अवरुद्ध कर अतिक्रमण से भवन निर्माण करा दिया गया है। आवेदन में सतेंद्र यादव, गणेश महतो, उमेश मंडल, बिनोद ठाकुर आदि ने कहा है कि अगर इस दिशा में यथाशीघ्र स्वयं एसडीओ सदर अवलोकन नही करते हैं तो स्थिति विस्फोटक हो सकती है। मोहल्ला के लोगों ने कहा है कि समुचित कार्रवाई कर इस इलाके को जलमग्न होने से बचाया जा सकता है। वहीं इस मामले को लेकर सदर एसडीओ श्री जोड़वाल ने कहा कि शहर की जल निकासी के लिए कार्य चारों तरफ हो रही है अगर कोई जल निकासी के कार्य  एवं रास्ते को अबरूद्व करेगा तो उनके ऊपर कानूनी करवाई की जाएगी।
loading...

LEAVE A REPLY