पटना। सिने सोसाईटी पटना, बिहार आर्ट थियेटर और रंगमाटी के द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित पटना शॉर्ट फिल्म फेस्टीवल के आज दूसरे दिन आठ फिल्मों का प्रदर्शन किया गया। आज की पहली फिल्म आनंद कुमार द्वारा निर्देशित टू हुम इट मे कॉन्सर्न थी। यह फिल्म मानवीय आदर्शों को एक गरीब कन्या के जीवन के माध्यम से  दिखाया गया है।

दूसरी फिल्म रॉग नम्बर थी, जिसमें गलत फोन के कारण एक पिता – पुत्र के रिश्ते मे आये बदलाव को दिखाता है। यह फिल्म प्रशांत कुमार द्वारा निर्देशित थी। इसी कड़ी मे महिला सशक्तिकरण और महिला अधिकारों के प्रति जागरूक करती गुप्तेश्वर कुमार द्वारा निर्देशित इक आग जलनी चाहिए एंव दो कुड़ा चुननेवाले लड़को की कहानी कहती अनिमेश कुमार द्वारा निर्देशित  फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद किया।

 

वहीं, महोत्‍सव के दूसरे सत्र में सफाई अभियान पर आधारित प्रोजेक्ट क्लीन इंडिया एंव ऐतिहासिक फिल्मो की श्रेणी में सुमन कुमार द्वारा निर्देशित फिल्म शेरशाह सूरी को दिखाया गया। जिसमें शेरशाह को सक्षम सेनापति, रणनितिकार, एंव कुशल प्रशासक के रूप मे दिखाया गया। इसके हास्यास्पद फिल्म गोपी का प्रदर्शन किया गया।

इसके बाद मॉडरेटर के रूप मे कुमार रविकांत ने आज प्रदर्शित फिल्मो के निर्देशको से बातचीत की। इस दौरान उन्‍होंने बताया कि इस फ़िल्म फेस्टिवल के आखरी दिन ftti के पूर्व निदेशक,एवं फ़िल्म मेकर श्री त्रिपुरारी शरण(IAS)द्वारा फिल्मकारों को सहभगिता प्रमाण-पत्र दिया जाएगा ।

आज के आयोजन के अंत में डाँ जय मंगल देव एंव प्रशांत कुमार निर्देशित फिल्मो पोस्टरो के ईतिहास को दिखाती फिल्म पोस्टेरिक्स को दिखाया गया। आयोजन समिति में आर.एन दाश, एजाज हुसैन, सुमन सौरभ, रणविजय सिंह, सीमांत प्रधान थे। वहीं सहयोगी सदस्यों के रूप मे वैभव विशाल, प्रवीर सत्यम, अमन कुमार, समीर कुमार ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

loading...

LEAVE A REPLY