Washington, 23 June: सेक्स प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियों को लगता होगा कि टीवी पर अश्लील और कामोत्तेजक विज्ञापन देने से दर्शक खुश हो जाएंगे और उनके प्रोडक्ट की विक्री बढ़ जाएगी तो उनका सोचना गलत है क्योंकि एक रिसर्च अनालिसिस में दावा किया गया है कि टीवी पर अश्लील विज्ञापन देने से सेक्स प्रोडक्ट की विक्री पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता और कभी कभी विक्री कम हो जाती है क्योंकि महिलाओं को ऐसे प्रोडक्ट से और अधिक नफरत हो जाती है जिस विज्ञापन में उसका अश्लील तरीके से प्रचार किया जाता है, हाँ पुरुष जरूर ऐसे विज्ञापन देखकर खुश होते हैं लेकिन विज्ञापन देखकर वे भी प्रोडक्ट नहीं खरीदते.
आपकी जानकारी के लिए बता दें University of Illinois, US के लेखर Wirtz और उनके साथियों ने करीब 80 विज्ञापन से सम्बंधित चीजों का अध्ययन किया और निष्कर्ष निकला कि विज्ञापन में Sexual Appeal का प्रोडक्ट की विक्री पर कोई असर नहीं पड़ता.
रिपोर्ट में कहा गया है कि विज्ञापन देखकर लोग प्रोडक्ट को लम्बे समय तक याद रखते हैं लेकिन उसे खरीदते नहीं हैं, कई बार तो अगर लोगों का खरीदने का भी मन होता है तो विज्ञापन देखकर उनका मन बदल जाता है और वे कोई और प्रोडक्ट खरीद लेते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आजकल भारत में भी टीवी पर विज्ञापन एजेंसीज मॉडल्स सनी लियोनी जैसी पोर्न-स्टारों से कामसूत्र जैसे सेक्स प्रोडक्ट्स का प्रचार करवाती हैं, ऐसी विज्ञापन में प्रोडक्ट का प्रचार कम बल्कि अश्लीलता और फूहड़ता अधिक होती है, कंपनियों को लगता होगा कि ऐसा करने से उनके प्रोडक्ट की विक्री बढ़ जाएगी तो शायद उनका सोचना गलत है, रिसर्च तो यही कह रही है.

loading...

LEAVE A REPLY