file photo

किसी को शराब पीना है तो चौसा में ऑन लाईन बुकिंग की सुबिधा है. मोबाईल पर नम्बर डायल करें और कुछ ही देर में शराब आपके घर पर होगा. जी हाँ ये सच है, गैस सिलेंडर होम डिलीवरी, खाने का सामान होम डिलीवरी तो आपने सुना होगा पर आज शराब की भी होम डिलीवरी की बात सामने आई है.

पुलिस भी कुछ कम नहीं हैं शराब की गंध मिलते ही पीछे पड़ जाते हैं. या यूँ कहे कि शराब कारोबारियों और पुलिस के बीच चूहे बिल्ली का खेल हो रहा है. शराब पीने और पिलाने वाले नित्य नये हथकंडे अपना रहे हैं और पुलिस भी उसे उद्भेदन कर के ही दम लेती है.

गुप्त सूचना के आधार पर मधेपुरा जिले के चौसा पुलिस ने एक होम डिलीवरी करने वाले शराब विक्रेता को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. मालूम हो कि डीएम मो. सोहेल और एसपी विकास कुमार ने शराब को लेकर हाई लेवल की बैठक की थी जिसके बाद पुलिस प्रशासन शख्त हुई.

चौसा थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि चौसा में शराब कारोबारी नए तरीके से होम डिलीवरी किया करते हैं फिर रणनीति तैयार कर आज मनोज कुमार सिंह को छह पाउच देसी शराब और एक मोटर साईकिल के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस अधीक्षक विकास कहते हैं कि वे शराबबंदी के मामले पर अडिग हैं, किसी भी शर्त पर जिले में शराब की बिक्री नहीं होगी. शराबी और शराब विक्रेता भले ही नित्य नये हथकंडे अपना रही है पर पुलिस भी नये हथकंडे अपना कर उसे पकड़ ही लेती है. शराबबंदी का असर दिखने लगा है, सभी जगह खुशहाली नजर आ रही है. जनता अब अपने पैसे का इस्तेमाल दूसरे जगहों पर कर रही है. जेल भेजे जा रहे शराबी या विक्रेता जल्द छुट रहें हैं के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकारी वकील यानि लोक अभियोजक से बात कर इसका समाधान निकला जा रहा हैं.

loading...

LEAVE A REPLY