बिहार में सोमवार की सुबह आधा दर्जन से अधिक हत्‍याओं के साथ हुई। देर रात आरा में सड़क दुर्घटना में दो पत्रकारों की मौत हुई जिसे  हत्‍या बताया जा रहा है। जमुई से दोहरी हत्याओं  की खबर आई तो सीतामढ़ी में भी एक बुजुर्ग की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई। राजधानी सहित बिहार के अन्य जगहों पर भी घटनाएं हुई। सीतामढ़ी में एक व्यक्ति अपनी जेब में बम लेकर घूम रहा था , पर  दुर्घटनावश उसमें विस्‍फोट हो गया। जिससे  वह गंभीर रूप से घायल हो गया। आइये बड़ी घटनाओं पर डालते हैं एक नजर।

दो पत्रकारों की कुचलकर हत्‍या 

भोजपुर जिले में आरा-सासाराम मुख्‍य पथ पर एक अनियंत्रित स्कार्पियों की टक्कर से दो पत्रकारों की मौके पर ही मौत हो गई। घटना गड़हनी थाना क्षेत्र के नहसी पुल के समीप देर रात हुई। स्थानीय लोगों ने इसे हत्या बताया और सड़क जाम किया । लोगों ने आरोपित पूर्व मुखिया के पति व उनके बेटे को गिरफ्तार करने की भी  मांग की। आक्रोशित भीड़ ने आरा-सासाराम मुख्य पथ जाम कर आगजनी की।
घटना को लेकर पुलिस गंभीर हो चुकी है । घटना की जांच को लेकर डीएसपी के नेतृत्‍व में एसआइटी का गठन कर दिया गया है। पटना के जोनल आइजी नैयर हसनैन खान मामले की मॉनीटरिंग कर रहे हैं।  मुख्‍य आरोपी हरसू मिंया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
जानकारी के अनुसार गड़हनी थाना क्षेत्र के बगवां गांव निवासी खजांची सिंह के पुत्र नवीन निश्चल एक हिंदी दैनिक के लिए काम करते थे। वे बाइक पर गांव के ही एक पत्रिका के लिए काम करने वाले पत्रकार विजय सिंह के साथ घर लौट रहे थे। इसी दौरान उन्‍हें तेज रफ्तार स्‍कॉर्पियो ने ठोकर मार दी। दोनों मौत वहीँ हो गयी थी ।

जमुई में समधियों का डबल मर्डर 
बिहार का जमुई सोमवार को डबल मर्डर से दहल गया। देर रात लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के मोहनपुर गांव में दो लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई। घटना का कारण फिलहाल अज्ञात है।
मिली जानकारी के अनुसार देर रात करीब दो बजे घर में सोए शिव विश्वकर्मा व उनके समधी बमभोली विश्वकर्मा (बांका) की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी। घटना के वक्‍त कमरे में बच्‍चे भी सोए थे, जिन्‍हें अपराधियों ने क्षति नहीं पहुंचाई। गोली की आवज सुन जगे घर के लोगों ने दो अपराधियों को भागते देखा। घरवालों के अनुसार हत्‍यारे दीवार फांद कर आए और हत्‍या कर घर का दरवाजा खोल भाग गए।
विदित हो कि शिव कुमार विश्‍वकर्मा के घर पर पूजा थी। इस सिलसिले में बड़ी संख्‍या में रिश्‍तेदार पहुंचे थे। घर में चहल-पहल थी। इसके बाद रात में जब सभी थक कर सो गए तो अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया।

ससुराल आये दामाद की हत्या
सीवान के हुसैनगंज स्थित हथौड़ा गांव में ससुराल आये युवक की साढ़ू ने चाकू मारकर हत्या कर दी। बताया जाता है कि बोकारो में रहने वाले आसिफ अहमद  की शादी कुछ वर्ष पहले ही हथौड़ा में हुई थी। करीब एक सप्ताह पूर्व उसकी पत्नी ससुराल से मायके आयी थी। शनिवार को आसिफ बोकारो से ससुराल अपनी पत्नी को वापस ले जाने आया था, लेकिन पत्नी जाने को तैयार नहीं हुई। इसके बाद रविवार की रात आसिफ जब शौच के लिए घर से निकला तो खेत मे उसके साढू मिंटू ने चाकू मार कर उसकी हत्या कर डाली।
मृतक के परिजनों के बयान पर उसकी पत्नी और पत्नी के बहनोई समेत छह लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। सभी अभियुक्त फरार हैं।

यहां भी हुईं हत्‍याएं
राजधानी पटना के पालीगंज में मामूली विवाद में भाई ने भाई की हत्‍या कर दी। पटना के ही कुर्जी में एक और हत्‍या कर दी गई। उधर, छपरा में एक बुजुर्ग अहमद साई की हत्‍या तलपवार से काटकर कर दी गई। सीतामढ़ी के रून्‍नरसैदपुर में भी देर रात एक बुजुर्ग की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई।

पॉकेट में रखा बम फटा 
सीतामढ़ी के मेजरगंज बाजार के हनुमान मंदिर चौक पर एक अपराधी पॉकेट में बम लेकर चाय पीने निकला। जेब में रखा बम दबाब के कारन फट गया
जिससे वह घायल हो गया। घायल की पहचान थाना क्षेत्र के डुमरी कला डोले डंगराहा गांव निवासी भालटू सिंह के पुत्र राकेश कुमार सिंह (38) के रूप में की गई है।
स्थानीय लोगों ने बताया कि राकेश का जुड़ाव शातिर बदमाशों से है। वह किसी आपराधिक वारदात को अंजाम देने के लिए बाजार में बम लेकर आया था और सहयोगियों की प्रतीक्षा कर रहा था। इसी दौरान बम पॉकेट में ही फट गया।

loading...

LEAVE A REPLY