पटना : जनवरी माह में राजधानी के NIT घाट पर हुए भीषण नाव हादसा मामले में रविवार को राज्य सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है. मामले में सारण के जिलाधिकारी और 2007 बैच के आईएएस अधिकारी दीपक आनंद को हटा दिया गया है. उन्हें सामान्य प्रशासन विभाग में पदस्थापना की प्रतीक्षा में भेज दिया गया है. दीपक आनंद की जगह 2006 बैच के आईएएस अधिकारी हरिहर प्रसाद को सारण का नया जिलाधिकारी बनाया गया है.

हरिहर प्रसाद इसके पहले निदेशक, मध्याहन भोजन, शिक्षा विभाग के रूप में अपना योगदान दे रहे थे. वहीं अब 2004 बैच के आईआरएस अधिकारी विकास को निदेशक, मध्याहन भोजन, शिक्षा विभाग बनाया गया है.

 

 

बताते चलें, नाव हादसे मामले में सोनपुर एसडीपीओ अली अंसारी और एसडीओ मदन कुमार को पहले ही सस्पेंड किया जा चुका है. साथ ही इनके खिलाफ कार्रवाई करने के भी आदेश दिये गये हैं. वहीं पटना एडीएम राजेश चौधरी का भी सामान्य प्रशासन विभाग में ट्रांसफर कर दिया गया है. इसी मामले में पर्यटन विभाग के बड़े अधिकारियों पर भी गाज गिरी थी. पर्यटन विभाग की प्रधान सचिव हरजीत कौर तथा निदेशक उमाशंकर प्रसाद का भी तबादला कर दिया गया था. साथ ही छपरा के एसपी पंकज कुमार राय का भी तबादला करते हुए उन्हें मुख्यालय में पदस्थापन की प्रतीक्षा में भेज दिया गया था.

 

इन सभी अधिकारियों पर पतंगोत्सव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में गंभीर चूक के आरोप थे. इस मामले की जांच के लिए बनायी गयी कमिटी ने बीते 10 फ़रवरी को अपनी रिपोर्ट गृह विभाग को सौंपी थी. इस रिपोर्ट में घटना की वजह प्रशासनिक चूक बतायी गयी थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि प्रशासन और पर्यटन विभाग की तरफ से दियारा में लोगों को पतंगोत्सव में शामिल होने के लिए तो बुलाया गया था, लेकिन उन्हें वापस भेजने के लिए प्रशासन की तरफ से बेहतर इंतजाम नहीं किये गये थे. इस जांच कमिटी में आपदा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत और डीआईजी शालीन शामिल थे.

loading...

LEAVE A REPLY