बड़े अरमान से जगदीशपुर के उत्तरदाहा से बारात लेकर दूल्हा बना सुधीर अपने पूरे परिजनों और बारातियों के साथ मिलकर पीलापुर बारात लेकर पहुंचा. मगर उसे क्या पता था कि यह बारात उसकी जीवन की आखिरी रात होगी. बारात लगी द्वारपूजा भी हुई, जय माल भी हुआ और दुल्हन के गले में दूल्हे सुधीर कुमार ने माला भी पहनाई.

सभी बाराती से लेकर घर वाले तक बेहद खुश थे. मगर थोड़ी ही देर बाद उनकी खुशियों में पानी फिर गया. जयमाल के बाद दूल्हा अपने दोस्तों के साथ खड़ा था तभी स्टेज के पास खड़े किसी शख्स ने हथियार निकाल कर दूल्हे सुधीर कुमार को निशाना बनाकर फायर कर दिया. गोली दूल्हा सुधीर कुमार के सीने में लगी. जिसके कारण घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई.

दूल्हे की मौत के बाद भगदड़ का माहौल कायम हो गया. और अफरा तफरी मच गई. घटना के बाद गाँव में मातम पसरा हुआ है सुधीर अपने माँ बाप का एकलौता बेटा था पिता की मौत कई वर्षो पहले ही हो गई थी। सुधीर की मौत के बाद अब उसके परिवार में कोई नही है। हालांकि पुलिस अभी कुछ भी बोलने से परहेज कर रही है प्रेम प्रसंग को लेकर किसी विवाद की जांच पुलिस कर रही है।

loading...

LEAVE A REPLY