सुशील कुमार मोदी ने एक बार फिर लालू यादव पे बड़ा इल्ज़ाम लगाया है की लालू यादव लोगों की रेलवे में नौकरी लगवाते थे और उसके बदले अपने या अपने परिवार के नाम पे ज़मीन अपने और अपने परिवार के नाम पर लिखवा लेते थे। सुशील मोदी ने आरोप लगाया है की लालू यादव जब रेल मंत्री थे तो उन्होंने खूब बेनामी संपात्ति अर्जित की है। कभी परिवार कभी रिश्तेदार तो कभी पहचान के लोगो के नाम पे संपात्ति उपलब्ध करवाई और बाद में अपने नाम करवा ली। साथ ही 38 लाख की जमीन पहले राबड़ी देवी को और 14 दिन के बाद 5वी बेटी हेमा यादव को दे दी 62 लाख में दोबारा लिखवा दी गिफ्ट के तौर पे। मोदी ने कहा कि वुशुनदेव राय से ललन चौधरी ने ज़मीन खरीदी थी। 8 साल में जमीन की कीमत कई गुना बढ़ गयी। पहले ललन चौधरी ने वो ज़मीन राबड़ी देवी को गिफ्ट के तौर पे दी और फिर 6200000 रुपये में ललन चौधरी ने हेमा यादव को गिफ्ट में दे दी। 18 दिन में 1करोड़ की संपात्ति राबड़ी देवी और हेमा यादव को दान में दे दी। मोदी के ये भी कहा कि लालू यादव हमेशा यही करते आये है। जो आदमी bpl श्रेणी में आते है उनके नाम भी ज़मीन खरीदवा देते है और बाद में अपने नाम करवा लेते है और कहते है कि गिफ्ट के तौर पे मिली है । ललन चौधरी जो bpl श्रेणी से आते है कैसे करोड़ो की संपात्ति उनके पास आ गयी इसकी जांच सरकार करे।

 
क्यों लालू ललन को सामने नही ला पाये है ।मोदी ने कहा कि रेलवे में नौकरी देकर ज़मीन लिखवा ली नौकरी दो ठेका दो उसके बदले ज़मीन लिखवा लो बाद में गिफ्ट के माध्यम से अपने नाम या परिवार के नाम लिखवा लेना एहि मोड्स ऑफ ऑपरेंडी है लालू यादव का रहा है । साथ ही सुशील मोदी ने लालू यादव पे धोकाधड़ी का भी आरोप लगाया है।
इनकम टैक्स को भी टैक्स नही दिया है लालू यादव और उनके परिवार ने । मोदी ने नीतीश कुमार पे भी आरोप लगाया कि ऐसे धोखाधड़ी करने वाले के साथ नीतीश कुमार सरकार चला रहे है। मोदी ने कहा कि देखना ये है कि बिहार सरकार क्या करवाई करती है।मोदी ने ये भी कहा कि हमलोग शिकायत भी करेंगे और जरूरत पड़ी तो कोर्ट भी जाएंगे। लालू यादव ने अपने राजनैतिक सहयोगियो को भी नही छोड़ा। काम करवाने के बदले ज़मीन और अवैध संपात्ति अर्जित करते रहते है लालू यादव ये भी आरोप लगाया है सुशील मोदी ने लालू पे। साथ ही मोदी ने कहा कि
कल लालू यादव का जन्मदिन है बेटे उनको पुल गिफ्ट के तौर पे दे रहे है। ये कैसी परंपरा की शुरुआत हो रही है पहले सुना था कि किसी ने गांधी मैदान लिख दिया था अब लोग पुल गिफ्ट कर रहे है ये कैसी परंपरा की शुरआत हो रही है।

loading...

LEAVE A REPLY