संवाददाता पटना :
निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में पुलिस उपाधीक्षकों की सेवानिवृति के पश्चात कार्यालय में कार्य संपादन में हो रही परेशानी को दूर करने के लिए संविदा के आधार पर डीएसपी स्तर के पदाधिकारियों की नियुक्ति की जायेगी। इसके तहत नियोजन के लिये बिहार पुलिस सेवा के वैसे पदाधिकारी जो निगरानी अन्वेषण ब्यूरो / विशेष निगरानी इकाई/ निगरानी विद्युत पर्षद कोषांग तथा केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो के समकक्ष पद से सेवानिवृत हुए हैं उनसे आवेदन पत्र की मांग की गयी है। निगरानी विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आठ पदों पर होने वाली नियुक्ति में चार पद सामान्य तथा चार पद आरक्षित उम्मीदवारों के लिये है। एक जनवरी को आवेदक की अधिकतम उम्र सीमा 63 वर्ष होनी चाहिए। दो वर्ष के लिये संविदा के आधार पर बहाल किये जाने वाले उम्मीदवारों की संविदा की अवधि में विस्तार भी किया जा सकता है। आवेदक को अपने आवेदन के साथ एक शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा जिसमें उनके खिलाफ किसी तरह का मामला नहीं चल रहा उसे भी दर्शाना होगा। नियोजित पदाधिकारी का मानदेय उन्हें सेवानिवृति के समय प्राप्त अंतिम वेतन राशि से उनके पेंशन की राशि घटाने के बाद जो राशि होगी, वही देय होगा। नियोजित पुलिस उपाधीक्षक से भ्रष्टाचार संबंधी जांच एवं अनुसंधान का कार्य लिया जायेगा। इच्छुक उम्मीदवारों का आवेदन 31 जनवरी 2014 तक निगरानी विभाग के कार्यालय में स्वीकार किये जायेंगे।

loading...

LEAVE A REPLY