नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से संबद्ध दिल्ली सरकार ने अपने 28 कॉलेजों में गवर्निंग बॉडी बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस बार भी पत्रकारों को प्राथमिकता दी जाएगी। कॉलेजों की गवर्निंग बॉडी में इस बार न्यूज चैनलों से संबंध रखने वाले अधिक चेहरे दिखाई देंगे। इसमें युवाओं और महिलाओं को अधिक प्राथमिकता मिलेगी। दिल्ली सरकार 28 में से 12 कॉलेजों के लिए पूरा फंड जारी करती है, जबकि बाकी 16 कॉलेजों के लिए 5 फीसद फंड देती है। व्यवस्था के अनुसार, सभी कॉलेजों की गवर्निंग बॉडी के लिए 16 सदस्य होते हैं, जिसमें से 5 सरकार एवं 5 डीयू की ओर से मनोनीत होते हैं। इसके अलावा प्रत्येक कॉलेज से प्रिंसिपल, दो शैक्षणिक प्रतिनिधि, कॉलेज प्रशासन का एक नॉन टीचिंग स्टाफ और डीयू की ओर से दो शैक्षणिक प्रतिनिधि को शामिल किया जाता है। जुलाई 2015 में बनाई गईं गवर्निंग बॉडी का जुलाई 2016 में कार्यकाल पूरा हो गया था। उसके बाद सरकार की सिफारिश पर तीन माह तक कार्यकाल बढ़ाया गया था, जो 17 अक्टूबर 2016 को समाप्त हो चुका है। डीयू ने अपनी ओर से मनोनीत किए जाने वाले सदस्यों की सूची दिल्ली सरकार के पास भेज दी है। अगले सप्ताह तक सरकार भी डीयू के पास अपने द्वारा मनोनीत किए जाने वाले सदस्यों की सूची भेज देगी। माना जा रहा है कि एक माह के अंदर सभी कॉलेजों में गवर्निंग बॉडी गठित हो जाएगी।

loading...

LEAVE A REPLY