तेजपाल
तेजपाल

नई दिल्ली। महिला सहकर्मी से यौन शोषण के आरोपों में घिरे तहलका के संस्थापक तरुण तेजपाल ने गुरुवार को गोवा पुलिस के समक्ष पेश होने के लिए कुछ और समय की मांग की। इसके साथ ही यह भी साफ हो गया है कि वह आज गोवा पुलिस के समक्ष पेश नहीं होंगे। जानकारी के मुताबिक उन्होंने पुलिस को पत्र लिखकर इसके लिए तीस नवंबर तक का समय मांगा है। इससे पहले उन्होंने तीन बजे गोवा पुलिस के समक्ष पेश होने की बात कही थी। वहीं दूसरी ओर आज तहलका की मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी ने भी संस्थान से अपना इस्तीफा दे दिया।

शोमा पर यौन शोषण मामले को गंभीरता से न लेने और तेजपाल को बचाने का आरोप लगातार लगाए जा रहे थे। इसके अलावा उन्होंने पीड़िता के चरित्र पर सवाल उठाने की कोशिश की थी। उन्होंने गुरुवार को अपने ऊपर लगे आरोपों को दरकिनार करते हुए कहा कि इस वक्त इस्तीफा देना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

गोवा पुलिस ने माना पीड़िता के साथ लिफ्ट में थे तेजपाल

तेजपाल की पेशी को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। पुलिस के मुताबिक यदि वह आज पुलिस के समक्ष पेश नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया जा सकता है। वहीं यदि उनके जवाबों से गोवा पुलिस संतुष्ट नहीं होती है तो उन्हें तत्काल गिरफ्तार किया जा सकता है। पीड़िता के मजिस्ट्रेट के सामने धारा-164 के तहत बयान दर्ज होने के बाद तेजपाल के बचने का हर रास्ता लगभग बंद हो गया है। इस धारा के तहत दर्ज बयान को अदालत के सामने सुबूत के तौर पर देखा जाता है।

गौरतलब है कि अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे तरुण तेजपाल को बुधवार को भी राहत नहीं मिली। हाई कोर्ट ने शुक्रवार तक जमानत पर फैसला सुरक्षित रख लिया है।

साथ ही गिरफ्तारी पर रोक लगाने से भी इन्कार कर दिया। इसके तत्काल बाद गोवा पुलिस ने तेजपाल को गुरुवार दोपहर तीन बजे तक पूछताछ के लिए हाजिर होने का समन जारी कर दिया था।

loading...

LEAVE A REPLY